कटिहार : शोभा की बस्तु बना सोलर लाईट

 संवादाता इम्तियाज आलम

रात के अंधियारे मे भी ग्रमीण पथों को आलोकित करने को लेकर सरकार की ओर से ग्रामीण क्षेत्रों मे भी सड़क किनारे जगह जगह सोलर लाईट , शहरी क्षेत्रों मे भी ईसकी व्यवस्था की गयी है। इनमें से अब अधिकांश समुचित देखभाल के अभाव मे बंद पड़े है।सरकार की यह जनसापेक्ष योजना धन सापेक्ष योजना बनकर रह गयी है।

बौलिया पंचायत भवन के समीप तत्कालीन विधायक(मरहूम मोबारक हुसैन) की क्षेत्र विकास निधि से सोलर लाईट ग्रमीण पथ को आलोकित करने के उद्देश्य से लगवाया गया था ,ताकि ग्रामीणों को रात मे भी आवागमण मे असुविधा न हो। लेकिन उक्त स्थल पर लगा लाईट कम अवधि मे ही प्रकाश फैलाने जबाब दे गया।तब से लेकर आज तक यह अपने उध्दारक का बाट जोह रहा है। न ही किसी जनप्रतिनिधि और न ही किसी अधिकारी ने इसकी मरम्मत कराकर इसे जन उपयोगी बनाने की जरूरत महसूस की।

प्रखंड क्षेत्र मे ऐसे बहुतेरे स्ट्रीट लाईट है जो मरम्मत के अभाव मे शोभा की बस्तु बनकर रह गयी है। ग्रमीण रमजानी अली, मो० अंसार, मोहम्मद बाबर, मोहम्मद रिजवान, मोहम्मद मुंतजीर, मोहम्मद आजाद, मोहम्मद नबी, मो० तौसीफ ,मो० मुख्तार, हाफिज़ उद्दीन,ने संबंधित पदाधिकारी से ग्रमीण क्षेत्रों मे देखरेख के अभाव मे बंद पड़े सोलर लाईट दुरुस्त कराने की मांग की है।फाग

  

Related Articles

Post a comment